Vrat Katha

Vrat Katha

Vrat Katha (व्रत कथा), हिन्दू धर्म मे व्रत की कथा का बहुत महत्व है आप यहाँ पर सभी भगवनों की व्रत की कथा सुने सकते है

Collection of Vrat Katha

Ganesh Chaturthi Vrat Katha

एक पौराणिक कथा के अनुसार एक बार भगवान शंकर और माता पार्वती नर्मदा नदी के निकट बैठे थें. 

Shivratri Vrat Katha

प्राचीन काल में, किसी जंगल में एक गुरुद्रुह नाम का एक शिकारी रहता था

Sai Vrat Katha

शिरडी के साईं बाबा की चमत्कारी शक्तियों के बारे में बहुत-सी कथाएं हैं.

Pradosh Vrat Katha

स्कंद पुराण के अनुसार प्रत्येक माह की दोनों पक्षों की त्रयोदशी के दिन संध्याकाल के समय को “प्रदोष” कहा जाता है 

Somvar Vrat Katha

एक समय की बात है, किसी नगर में एक साहूकार रहता था. उसके घर में धन की कोई कमी नहीं थी

Mangalvar Vrat Katha

प्राचीन समय की बात है किसी नगर में एक ब्राह्मण दंपत्ति रहते थे उनके कोई संतान न होन कारण वह बेहद दुखी थे.

Budhwar Vrat Katha

एक व्यक्ति अपनी पत्नी को विदा करवाने अपनी ससुराल गया। 

Brihaspativar Vrat Katha

प्राचीन काल की बात है. किसी राज्य में एक बड़ा प्रतापी और दानी राजा राज करता था.

Shukarvar Vrat Katha

पौराणिक मान्यता के अनुसार, एक बुढ़िया थी जिसके सात बेटे थे। सातों भाइयों में से एक बहुत ही निक्कमा था

Shanivar Vrat Katha

बहुत समय पहले की बात है, जब देवी-देवता, ऋषि-मुनि आदि स्वर्ग लोक से लेकर….

Ravivar Vrat Katha

प्राचीन काल में किसी नगर में एक बुढ़िया रहती थी। वह प्रत्येक रविवार को सुबह उठकर स्नानादि से निवृत्त होकर आंगन….